Friday, 11 May 2018

मजबूत डिमांड से मेटल में रहेगी तेजी, इन शेयरों में मिलेगा 33% तक रिटर्न


नई
दिल्ली। अमेरिका द्वारा शुरू किए गए ट्रेड वार से ग्लोबल मार्केट में सप्लाई की जो कमी आई है, उससे मेटल की कीमतों को लगातार सपोर्ट मिल रहा है। पिछले कुछ महीनों से सप्लाई कंसर्न, कॉपर माइन में स्ट्राइक, ऑटोमोबाइल्स, इलेक्ट्रिक व्हीकल और बैटरी की बढ़ती डिमांड की वजह से भी मेटल की कीमतों में तेजी आई है। इस तेजी का फायदा घरेलू मेटल कंपनियों को मिल रहा है। एक्सपर्ट्स का कहना है कि मेटल में अगले 3 से 4 महीनों तक ये तेजी बनी रहने की उम्मीद है। उन शेयरों में निवेश किया जा सकता है, जो इस तेजी में भी सस्ते हैं। महंगे शेयरों से दूर रहने की सलाह है। हिंदुस्तान जिंक, वेदांता, नाल्को और कोल इंडिया में अच्छा रिटर्न मिल सकता है.....

एक साल में 116% तक चढ़े शेयर 
पिछले एक साल की बात करें तो निफ्टी मेटल इंडेक्स में 27 फीसदी की तेजी आई है और शेयर में 116 फीसदी तक तेजी रही। इस दौरान जिंदल स्टील में 116 फीसदी, वेल्सपन कॉरपोरेशन लिमिटेड में 63 फीसदी, जेएसडबल्यू स्टील में 66 फीसदी, एपीएल अपोलो ट्यूब लिमिटेड में 43 फीसदी, टाटा स्टील में 37 फीसदी तक तेजी रही है। वहीं, हिंडाल्कों, सेल, नाल्को, हिंदुस्तान जिंक, वेदांता, हिंदुस्तान कॉपर और एमओआईएल के शेयरों में 11 फीसदी से 29 फीसदी तक तेजी रही है। 


आगे भी बनी रहेगी कीमतों में तेजी 
केडिया कमोडिटी के डायरेक्टर अजय केडिया का कहना है कि अमेरिका ने मेटल को लेकर जो ट्रेड वार शुरू किया है, उससे ग्लोबल मार्केट में खासतौर से एल्यूमीनियम और निकिल की सप्लाई की कमी हो गई है। वहीं, पिछले दिनों कुछ कॉपर माइंस में भी स्ट्राइक रही, जिससे मार्केट में डिमांड बढ़ गई। दूसरी ओर इंडस्ट्रियल डिमांड बढ़ने मसलन ऑटोमोबाइल, इलेक्ट्रिक व्हीकल्स और बैटरी की मांग बढ़ने से लेड और एल्यूमीनियम की कीमतों को सपोर्ट मिला है। उनका कहना है कि जिंक को छोड़कर लगभग सभी मेटल की कीमतों में तेजी है। यह आगे भी कम से कम 3 महीने बने रहने की उम्मीद है। 


घरेलू स्तर पर बढ़ेगी मांग 
मेटल की कीमतें पिछले कई सालों के टॉप पर हैं। वहीं, डोमेस्टिक और इंटरनेशनल दोनों ही लेवल पर सेक्टर का आउटलुक बेहतर नजर रहा है। अमेरिका और यूरोप में बेहतर डाटा रहे हैं। वहीं, चीन और भारत भी इकोनॉमी को बूस्ट करने में लगे हैं, जिससे डिमांड बढ़ेगी। ट्रेड स्विफ्ट के रिसर्च हेड संदीप जैन का कहना है कि डोमेस्टिक स्तर पर सरकार का फोकस इंफ्रा और हाउसिंग पर है। ऑटोमोबाइल सेक्टर के नंबर अच्छे रहे हैं। इन सभी सेक्टर से मेटल की डिमांड तेज होगी। आने वाले दिनों में भारत में भी मेटज की कंजम्पशन बढ़ेगा।

किन शेयरों में करें निवेश..... 

हिंदुस्तान जिंक 
हिंदुस्तान जिंक दुनिया की दूसरा सबसे बड़ी जिंक प्रोड्यूसर कंपनी है। कंपनी अपनी माइन्स मेटल कैपेसिटी के विस्तार की योजना में है। कैपेसिटी बढ़ने का फायदा आगे दिखेगा। कंपनी के पास मजबूत रिजर्व है। कंपनी की ग्रोथ अच्छी है और चौथी तिमाही में बेहतर नतीजे दिखाए हैं। ब्रोकरेज हाउस इडेलवाइस ने शेयर के लिए 395 रुपए और ब्रोकरेज हाउस आईसीआईसीआई डायरेक्ट ने शेयर के लिए 350 रुपए का लक्ष् दिया हे। करंट प्राइस 296 रुपए के लिहाज से शेयर में 33 फीसदी रिटर्न मिल सकता है।

This content has been taken from https://money.bhaskar.com/news/MON-MARK-STMF-MRKT-infog-experts-seen-better-return-in-some-selective-metal-stocks-5870433-PHO.html.

No comments:

Post a Comment

Here’s a 16-stock Moneycontrol Research mid-cap portfolio to weather rough seas

We have constructed a 16-stock mid-cap portfolio to capitalise on the current weakness, which we feel presents a good opportunity for lon...